नीलकंठेश्वर महादेव का आकर्षक श्रंगार त्रिमूर्ति के रूप में…..

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद ।। श्रावण के अंतिम सोमवार को अलसुबह से ही भक्तों का तांता नगर के विभिन्न शिवालयों में लगना शुरू हो गया। नगर के प्रमुख मंदिर में विशेष तैयारियां की गयी । सावन माह के अंतिम सोमवार पर शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। पूरे दिन भगवान भोलेनाथ के दर्शन के साथ पूजन-अर्चना अभिषेक का दौर चला। सावन माह में निलकंठेश्वर महादेव मंदिर में भगवान भोलेनाथ को झूले में झूलाने की परंपरा है। यहां दिनभर पूजन-अर्चना के साथ शाम को भगवान भोलेनाथ का विशेष श्रृंगार हुआ। महाश्रृंगार, महाआरती, महाप्रसादी का भी वितरण हुआ।

*नीलकंठ महादेव का त्रिमूर्ति के रूप में आकर्षक श्रंगार*

नीलकंठेश्वर मित्र मंडल के द्वारा श्रावण के अंतिम सोमवार के दिन शंकर मंदिर पर शिवलिंग का आकर्षक श्रृंगार किया गया । शिवलिंग का त्रिमूर्ति के रूप में श्रंगार किया गया। जिसमें शिव ,पार्वती, एवं गणेशजी, तीनों एक साथ एक रूप दिखाई दे रहे थे। मनमोहक तिरंगे के रूप में भगवान भोलेनाथ दिखाई दे रहे थे बाबा का दरबार तिरंगा के रूप में दिखाई दे रहा था जो मनमोहक आकर्षक का केंद्र बना हुआ था। रात्रि में विशाल भजन संध्या में स्वर संगम म्यूजिक ग्रुप उज्जैन के द्वारा मनमोहक भजनों की प्रस्तुति दी गई जहां पर देर रात्रि तक श्रद्धालु झूमते रहे एवं भजन संध्या का आनंद लेते रहे

 

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!