नगर में यातायात व्यवस्था बिगड़ी…. मुख्य मार्गो से अलावा अंदरूनी मार्गो के हाल खराब…. जिम्मेदार नही दे रहे ध्यान….

पेटलावद से हरिश राठौड़ की रिपोर्ट

पेटलावद. शहर में इन दिनों यातायात व्यवस्था दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है , इसको लेकर जिम्मेदार मुख दर्शक बने हुए हैं। आए दिन मुख्य मार्गों के अलावा अंदरूनी मार्गों में भी जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है तो वही छोटी-मोटी दुर्घटनाएं भी आम बात हो गई है। पुलिस विभाग और नगर परिषद के कर्मचारी अपने हाल में मस्त है तो वही यातायात व्यवस्था सुधरने के बजाय बिगड़ती जा रही है। पुलिस केवल चलानी कार्यवाही में मस्त है। शहर लगातार विकास की ओर बढ़ रहा है ,चाहे बामनियां से रायपुरिया रोड हो, या बदनावर थांदला रोड, तीनो मुख्य चौराहो ओर नगर के अंदरूनी मार्ग हो सभी तरफ रोड पर अव्यवस्था ओर रोड जाम की स्थिति प्रतिदिन निर्मित हो रही हे।

80 प्रतिशत से ज्यादा रोड पर बैठे व्यापारी…

मुख्य मार्गो ओर अंदरूनी मार्गो पर बने हुए मकान, मकान के बाहर पक्की दुकान ओर इन दुकानों के आगे ठेलागाड़ी लगाकर या जमीन पर बैठकर व्यापार करने वाले फुटकर व्यापारियों ने 80 प्रतिशत से ज्यादा रोड पर कब्जा कर रखा है जिसके चलते सड़क पर चार पहिया या दो पहिया वाहन निकालना तो ठीक पैदल चलने वाले लोगो को भी दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा है ।

बेतरतीब खड़े वाहन….

व्यापारीयो के सामने व्यवसाय करना और घर चलाने की गम्भीर चुनोतियाँ है लेकिन नगर में रोड़ पर नगरवासियों के अलावा बाहर से आने वाले ग्रामीणों के द्वरा बीच रोड पर बेतरतीब तरीके से अपने वाहन खड़े कर देने से हालात और बदत्तर हो जाते है।वही स्थानीय अस्थाई बस स्टैंड पर यातायात व्यवस्था के हाल ज्यादा बेहाल है क्योंकि इसी मार्ग पर स्टेट हाईवे होने से गुजरात और बदनावर की तरफ बड़ी संख्या में वाहनों का आवागमन होता है ऐसे में पुलिस प्रशासन इस ओर भी कोई ध्यान नहीं दे रहा हैं । वही अस्थाई बस स्टैंड पर बस चालक अपनी मर्जी अनुसार बसों को रोड पर ही खड़े कर देते हैं जिससे यातायात व्यवस्था और बिगड़ जाती है। जिम्मेदारों को इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है।

 

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!