बेटे का कटा हाथ लेकर थाने पहुंचा पिता…..दमोह में बाइक नहीं देने पर बेरहमी से पीटा, गुस्से में कुल्हाड़ी काट डाला हाथ…..

 

दमोह में एक पिता ने कुल्हाड़ी से अपने ही बेटे का हाथ काट दिया। इसके बाद कटा हाथ और कुल्हाड़ी लेकर थाने पहुंच गया। ये सीन देखकर पुलिस हैरान रह गई। फिलहाल पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया है। मामला दमोह के जेरठ चौकी क्षेत्र के बोबई गांव का है। गुरुवार शाम करीब 4 बजे मोती काछी (52) ने बेटे संतोष (30) से बाइक की चाबी मांगी। बेटे ने चाबी देने से मना कर दिया। इससे पिता नाराज हो गया।

उन्होंने अपने भाई राम किशन के साथ मिलकर बेटे को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। बेटा पिता से बहस करने लगा। इस पर पिता और ज्यादा आगबबूला हो गए। उसने पास पड़ी कुल्हाड़ी उठाई और बेटे पर हमला कर दिया। कुल्हाड़ी बेटे के बाएं हाथ पर लगी, जिससे हाथ कटकर जमीन पर गिर गया। हाथ कटते ही बेटा भी जमीन पर गिरा और तड़पने लगा।

कटा हाथ देखकर पुलिसवाले भी चौंके

हाथ कटने के बाद बेटा जमीन पर गिरकर तड़प रहा था। पिता ने कटे हाथ को उठाया और कुल्हाड़ी कंधे पर रखकर पैदल ही घर से निकल गया। वह सीधे पुलिस चौकी पहुंचा और सरेंडर कर दिया। कटा हाथ देखकर पुलिसवाले भी चौंक गए। उन्होंने आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया।

पत्नी लाई अस्पताल

इधर, घायल की पत्नी यशोदा पुलिस की गाड़ी से उसे लेकर पथरिया अस्पताल पहुंची, जहां प्राथमिक उपचार के बाद हालत को देखते हुए उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। डॉक्टर शशिकांत पटेल ने कहा- यदि समय पर हाथ की सर्जरी हो जाती है तो युवक का हाथ जुड़ सकता है, लेकिन देर होने पर उसका हाथ नहीं जुड़ पाएगा।

विवाद का असली कारण, बाइक की किश्त नहीं भरना

बेटे संतोष ने करीब डेढ़ साल पहले किश्त पर बाइक खरीदी थी। अभी 7-8 किश्त भरना बाकी थी। उसने पिता से किश्त भरने में मदद मांगी तो उन्होंने मना कर दिया। वे मदद तो नहीं करते थे, लेकिन बाइक जरूर मांगते थे। गुरुवार शाम करीब 4 बजे जब पिता ने उससे बाइक मांगी तो उसने मना कर दिया। बेटे ने कहा – जब आप किश्त भरने में मदद नहीं कर रहे हैं तो फिर मैं आपको गाड़ी की चाबी क्यों दूं। इसी बात को लेकर दोनों के बीच इतना विवाद बढ़ा कि पिता ने गुस्से में बेटे का हाथ काट दिया। परिजनों का कहना है कि उनके पास करीब 5 एकड़ जमीन है, जिस पर दोनों मिलकर खेती करते हैं। उसका खेत में चारा काटने के दौरान भी पिता से विवाद हुआ था।

 

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!